CCL: बिरसा परियोजना में स्थानीय संवेदकों ने की बैठकmeeting of local contractors in ccl Birsa project

सिविल कार्य में प्रक्षेत्र से बाहर के संवेदकों का होगा बहिष्कार

बड़कागांव: स्थानीय संवेदकों की बैठक बिरसा परियोजना कार्यालय के प्रांगण में सोमवार को हुई। जिसकी अध्यक्षता रैयत विस्थापित मोर्चा के अध्यक्ष सूरज बेसरा ने किया।

बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि उरीमारी क्षेत्र के सिविल कार्य को CCL बरका-सयाल क्षेत्र के बाहर के संवेदकों को कार्य नहीं करने दिया जाएगा। अगर कोई बाहरी संवेदक के द्वारा किसी ठेका कार्य में एल वन आता भी है तो उसे स्थानीय संवेदक संघ द्वारा कार्य नहीं करने दिया जाएगा।

रैयत विस्थापित मोर्चा बरका-सयाल के क्षेत्रीय अध्यक्ष सूरज बेसरा ने कहा कि सीसीएल प्रबंधन द्वारा कई कार्य स्थानीय लोगों हित में करती है। लेकिन बाहरी संवेदकों के द्वारा कार्य लेने की होड़ में काफी कम राशि में टेंडर डाल कर काम को ले लेती है और काफी खराब गुणवत्ता के कारण CCL के पैसे का नुकसान तो होता ही है साथ ही स्थानीय लोगों को भी नुकसान उठाना पड़ता है।

उन्होंने कहा कि विस्थापित अपना जमीन देकर कंपनी के हित मे काम करते आ रही है। इसके बावजूद यहां के युवा विस्थापित बेरोजगारी का दंश झेल रहे हैं। इन्हें स्थानीय ठेका कार्यों में पूर्ण भागीदारी मिलनी चाहिए।

बैठक में मुख्य रूप से विस्थापित नेता सोनाराम मांझी, जागेश्वर गोप, बिनोद हेंब्रम, महावीर साव, भोला साव, चूरामन ठाकुर, जय कुमार महतो, कुलदीप साव, लालधारी साव, राजपति कुमार, गोवर्धन साव, सहबीर हेंब्रम, सुरेश हेंब्रम, अखिलेश सिंह सहित कई लोग मौजूद थे।

By Admin

error: Content is protected !!