सयाल राजकीय मध्य विद्यालय का पंचायत प्रतिनिधियों ने किया निरीक्षणInspection of Sayal Government Middle School

कमियों को दूर कर, सुविधाएं बहाल करने का लिया निर्णय

रामगढ़: पतरातू प्रखंड अंतर्गत राजकीय मध्य विद्यालय सयाल में उत्तरी पंचायत सयाल के पंचायत प्रतिनिधियों ने विद्यालय का निरीक्षण शुक्रवार को किया। निरीक्षण के पश्चात पंचायत प्रतिनिधियों ने विद्यालय में बहुत सारी खामियों को चिन्हित किया।

विद्यालय के छात्राओं ने बताया कि विद्यालय में मध्यान भोजन को लेकर काफी परेशानी होती है एक तरफ जहां मध्यान भोजन समय से उपलब्ध नहीं हो रहा है वहीं छात्राओं के द्वारा भोजन मांगने पर रसोईयां द्वारा यह कहकर हटा दिया जाता है कि कई बच्चें अभी खाने के लिए बाकी है उनको देने के बाद अगर बचता है तो ही दोबारा दिया जाएगा। जबकि एक छात्रा ने कहा कि खिचड़ी के दौरान जब अचार मांगा गया तो रसोइयों द्वारा अचार नहीं दिया गया और वह अचार पैक करके अपने घर ले गई।

वहीं एक छात्रा ने बताया कि लड़कियों का जो शौचालय है उसकी चाहरदीवारी काफी नीची है। जिसकी वजह से दूसरी तरफ से आए दिन कोई न कोई दीवार फांद कर लड़कियों के शौचालय की तरफ आ जाता है। जिससे हम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। विद्यालय के शिक्षिकाओं को बार-बार बोलने के बावजूद हम लोगों की बातों को अनसुना कर दिया जा रहा है।

चावल है खराब, आदेश का करते हैं पालन : रसोईया

वहीं विद्यालय की रसोईयों ने बताया कि बच्चों को मध्याह्न भोजन के लिए जो चावल बनाया जा रहा है वह खाने योग्य नहीं है काफी कहने के बावजूद विद्यालय की प्रधानाध्यापिका द्वारा दबाव दिया जा रहा है कि उस चावल को बनाकर खत्म किया जाए। हम लोग अपने स्तर से चावल को साफ करने का काफी प्रयास करते हैं इसके बावजूद हम लोगों को कहा जाता है कि सही रूप से चावल साफ नहीं करने के कारण यह बार-बार शिकायत हो रहा है।

कमियों को दूर करने का होगा प्रयास : सत्येंद्र यादव

इस पूरे मुद्दे पर सयाल उत्तरी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि सत्येंद्र यादव ने कहा कि विद्यालय को ठीक ढंग से संचालन के लिए प्रयास किया जा रहा है जो गलतियां विद्यालय में हो चुकी है वह दोहराया ना जाए इसके लिए आगामी 9 तारीख को एक बैठक बुलाई गई है और उसमें प्रयास किया जाएगा की सारी कमियों को दूर कर विद्यालय को सही रूप से चलाया जा सके।

 बेहतर शैक्षणिक माहौल देने के लिए हूं प्रयासरत: प्रधानाध्यापिका

इस संबंध में विद्यालय की प्रधानाध्यापिका रेणु कुमारी ने कहा कि अगस्त माह में चावल का उठाव हुआ था और पिछले दिनों बारिश की वजह से नमी होने के कारण उन चावलों में कुछ किरी है जिससे साफ करा कर बनाया जा रहा है। चावल अभी खाने योग्य है। वहीं शौचालय के संबंध में कहा कि लड़कियों के शौचालय की चाहरदीवारी को लेकर पंचायत में हुए सरकार आपके द्वार कार्यक्रम के दौरान यह जानकारी वह दी गई है। साथ ही सयाल पंचायत की मुखिया को भी इसकी जानकारी दी गई है। इस संबंध में बताया गया है। मेरा प्रयास है कि विद्यालय साफ, सुथरा और स्वच्छ हो। यहां का शैक्षणिक माहौल अच्छा हो जिससे बच्चों की गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मिल सके। इसके लिए मैं प्रयास कर रही हूं इसके लिए सभी का सहयोग मिले तो विद्यालय को बेहतर बनाया जा सकता है।

By Admin

error: Content is protected !!