नई पीढ़ी को ‘आपातकाल’ की सच्चाई बताना जरूरी : सीपी सिंह

25 जून को भाजपा मनाएगी काला दिवस

राज्य  के सभी जिलों में आपातकाल पर होगी गोष्ठी

रांची : भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय में गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया जिसमें रांची विधायक सीपी सिंह, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य अजय राय और प्रेय मित्तल शामिल रहे। प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए विधायक सीपी सिंह ने कहा कि 25 जून को भाजपा पूरे देश में काला दिवस मनाए काला दिवस किस लिए क्योंकि 25 जून 1975 को श्रीमती इंदिरा गांधी ने आपातकाल की घोषणा की थी। इलाहाबाद हाई कोर्ट के न्यायाधीश जगमोहन लाल ने इंदिरा जिला गांधी के खिलाफ निर्णय सुनाया था, जिससे घबराकर श्रीमती इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगा दिया।

उन्होंने कहा कि आपातकाल में विरोधी नेताओं को जेल में डाल दिया गया, अखबारों पर प्रतिबंध लगा दिया गया। देश के अंदर जो भी घटनाएं घट रही थी वह समाचार पत्रों में नहीं आ पा रही थी। आपातकाल में भारतीय जनसंघ के बड़े नेताओं को जेल में डाल दिया गया। लोग कुछ भी बोलने से घबराते थे। इस दौरान कई निर्दोष लोग मारे गये।  आपातकाल में इंदिरा गांधी बिल्कुल अंग्रेजों की तरह व्यवहार कर रही थी।

आगे उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी देश को मजबूत करने का काम कर रहे हैं और कांग्रेस बेशर्म की तरह संवैधानिक संस्थाओं पर आरोप लगा रही है। भाजपा देश के संवैधानिक संस्थाओं का सम्मान करती है।

सीपी सिंह ने कहा कि नई पीढ़ी को देश में लगे आपातकाल की सच्चाई से अवगत कराना जरूरी है। 25 जून को झारखंड के सभी जिलों में आपातकाल को लेकर गोष्ठी का आयोजन किया जाएगा इसमें प्रदेश स्तर के पदाधिकारी भी भाग लेंगे।

By Admin

error: Content is protected !!