बीआईटी मेसरा में 32वें दिक्षांत समारोह का आयोजन32nd Convocation organized at BIT Mesra

जिम्मेवार नागरिक बन राष्ट्र सेवा में दें योगदान: राज्यपाल

रांंची: बिड़ला इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मेसरा में रविवार को 32वें दिक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सूबे के महामहिम राज्यपाल सह कुलाधिपति रमेश बैस बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए।

अपने संबोधन में राज्यपाल ने कहा कि शिक्षा का महत्व उपाधि ग्रहण करने या नौकरी के लिए प्रशिक्षण प्राप्त कर लेने मात्र तक सीमित नहीं होना चाहिए। इसका वास्तविक महत्वप एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में राष्ट्र के विकास में योगदान देना है। शिक्षण संस्थानों का कर्तव्य विद्यार्थियों में चेतना जागृत कर जीवन में बेहतर करने की भूख जगाना, उनमें आत्मनिर्भरता पैदा करना और उन्हें एक सम्पूर्ण व्यक्तित्व देना भी होना चाहिए।

राज्यपाल ने कहा कि आज हमारा देश दुनिया की प्रगतिशील अर्थव्यवस्था में शामिल है। उन्होंने कहा कि बिरला प्रौद्योगिकी संस्थान, मेसरा, झारखंड राज्य का एक अग्रणी तकनीकी संस्थान है. गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में इसने विशिष्ट पहचान स्थापित की है. यहां से शिक्षा ग्रहण कर विद्यार्थी अपनी प्रतिभा से देश-विदेश में सेवा प्रदान कर संस्थान का नाम रौशन कर रहे हैं. खुशी की बात यह है कि यह संस्थान अभियांत्रिकी और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में ज्ञान का प्रसार करने में कई वर्षों से महत्वपूर्ण योगदान दे रहा है।

By Admin

error: Content is protected !!