ईडी के समन पर नहीं पहुंचे सीएम हेमंत सोरेन, दी चेतावनीCM Hemant Soren did not reach ED office

सीएम ऑफिस से मांगी गई तीन सप्ताह की मोहलत

सीएम आवास पर झामुमो कार्यकर्ताओं का लगा जमावड़ा

रांंचीईडी ने अवैध खनन और मनी लाउंड्रिंग के मामले में समन जारी कर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को आज पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन मुख्य ईडी कार्यालय नहीं गये। वहीं सीएम आवास पर दिनभर झामुमो कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगा रहा। सीएम हेमंत सोरेन ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा पर राज्य सरकार को अस्थिर करने की साजिश का आरोप लगाते हुए ईडी को सीधी चुनौती भी दे डाली। सीएम ने राजभवन और प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय को विपक्ष का ठिकाना बताते हुए कहा कि- अगर मैं दोषी हूं तो पूछताछ क्यों, हिम्मत है तो सीधा गिरफ्तार करके दिखाओ।

हेमंत सोरेन ने आगे कहा कि भाजपा सरकार को गिराने का ख्वाब देख रही है। लेकिन यह ख्वाब पूरा नहीं होगा। सरकार कार्यकाल पूरा करेगी। कहा कि भाजपा के लोग नहीं चाहते की राज्य के आदिवासी और दलित विकास करें। भाजपा केंद्रीय एजेंसियों के जरिए ताकत दिखा रही है। लेकिन झारखंड में झारखंडियों का ही राज चलेगा। वहीं जानकारी के अनुसार सीएम ऑफिस ने मुख्यमंत्री के व्यस्ततम कार्यक्रमों को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से तीन सप्ताह की मोहलत मांगी है। 

 अवैध खनन और मनी लाउंड्रिंग का है मामला

बताते चले कि अवैध खनन और मनी लाउंड्रिंग के मामले ने मुख्यमंत्री को पूछताछ के लिए समन भेजा है। अवैध खनन और मनी लाउंड्रिंग के मामले में आइएएस पूजा सिंघल, मुख्यमंत्री के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा और मुख्यमंत्री के करीबी प्रेम प्रकाश न्यायिक हिरासत में हैं। ईडी के पास मामले में पुख्ता साक्ष्य होने की बात कही जा रही है। मुख्यमंत्री पर झारखंड भाजपा के नेताओं ने अवैध तरीके से माईनिंग लीज लेने का भी आरोप लगाया है।

By Admin

error: Content is protected !!