कांग्रेस प्रवक्ता पर करेंगे एससी-एसटी एक्ट के तहत केस : शिवशंकर उरांव

भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस

> कांग्रेस पर आदिवासी समाज के प्रति घृणा का भाव रखने का लगाया आरोप

> द्रौपदी मुर्मू पर कांग्रेस प्रवक्ता अजय कुमार की बयानबाजी का मामला 

रांचीभारतीय जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में गुरुवार को भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा की ओर से प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। जिसमें मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष शिव शंकर सहित महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष गायत्री कुजूर, भाजपा प्रदेश मीडिया सह प्रभारी अशोक बड़ाईक और मोर्चा के प्रदेश महामंत्री बिंदेश्वर उरांव मौजूद रहे।

मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष शिवशंकर उरांव ने कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता अजय कुमार के द्वारा द्रौपदी मुरू के संदर्भ में दिये गये बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि द्रौपदी मुरू एनडीए द्वारा नामित देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद की उम्मीदवार हैं। 18 जुलाई को राष्ट्रपति पद का चुनाव होना है और स्वभाविक रूप से द्रौपदी मुर्मू देश की राष्ट्रपति बन रही हैं। द्रौपदी मुर्मू पूरी दुनिया में भारत के 150 करोड़ लोगों का प्रतिनिधित्व करेंगी। यह जनजातीय समाज के लिए गौरव की बात है।

आगे उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता अजय कुुुमार ने द्रौपदी मुर्मू को लेकर बेहद घृणास्पद बयान दिया है। अजय कुमार ने कहा है कि द्रौपदी मुर्मू शैतानी फिलॉसफी का प्रतिनिधित्व करेंगी। शिवशंकर उरांव ने कहा कि- क्या अजय कुमार को आदिवासी और उनकी जीवनशैली, संस्कृति और परंपराएं शैतानी दर्शन लगता है ?

उन्होंने कहा कि अजय कुमार के बयान से देश के 12 करोड़ से ज्यादा आदिवासी मर्माहत हैं। ऐसे बयान से कांंग्रेस में आदिवासियों के लिए भरी घृणा निकलकर बाहर आ रही है।

कहा कि द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाने पर देश भर से आदिवासी समाज के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आभार पत्र भेज रहे हैं। इससे आदिवासी को मात्र वोट बैंक समझनेवाली कांग्रेस विचलित हो रही है। जबकि कांग्रेस की आदिवासियों के प्रति घृणा जगजाहिर है। 80 के दशक में कार्तिक उरांव को इंदिरा गांधी ने मंत्रीमंडल में सिर्फ इसलिए जगह नहीं दी, क्योंकि वे जनजातीय समाज से आते थे। जबकि कार्तिक उरांव उस दौर में आदिवासी समाज के सबसे पढ़े लिखे व्यक्ति थे। कांग्रेस ने हमेशा आदिवासियों को छला है। जनजातीय समाज कांग्रेस के मकड़जाल से निकल रहा है तो कांग्रेस के लोग विचलित होकर घृणास्पद बयानबाजी कर रहे हैं।

शिवशंकर उरांव ने कहा कि हमलोग बयान को गंभीरता से ले रहे हैं। जनजातीय समाज के प्रति इस घृणास्पद बयान पर कांग्रेस के साथ कांग्रेस के प्रवक्ता के उपर एससी-एसटी का केस दर्ज कराया जाएगा। कल से जगह-जगह पुतला दहन कर विरोध भी जताया जाएगा। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार से आग्रह है कि उनके सहयोगी दल की ओर से आदिवासी समाज के प्रति इस प्रकार की अनर्गल बयानबाजी को गंभीरता से लें।

By Admin

error: Content is protected !!