पोचरा के प्राचीन पवनसुत महावीर मंदिर में उमड़े श्रद्धालुDevotees gathered in the Mahavir temple of Pochara

कार्तिक पूर्णिमा पर पवनसुत बजरंगबली की हुई भव्य पूजा

  • हनुमान चालीसा का पाठ और भंडारे का भी हुआ आयोजन

रामगढ़: पोचरा स्थित प्राचीन पवनसुत महावीर मंदिर में कार्तिक पूर्णिमा पर मंगलवार को पूजा, आरती, हनुमान चालीस पाठ और भंडारे का आयोजन किया गया।

चंद्र ग्रहण समाप्त होने के उपरांत स्नान-ध्यान कर श्रद्धालु पूजा में शामिल हुए। पुजारी देवचरण पांडेय ने मंदिर का कपाट खोला। भगवान हनुमान की प्रतिमा का पंच स्नान और वस्त्र अर्पण के उपरांत विधि-विधान से पूजा-अर्चना और आरती की गई। इस दौरान जय बजरंगबली के उद्घोष से क्षेत्र गूंजायमान होता रहा। पूजा संपन्न होने के बाद श्रद्धालुओं ने संयुक्त रूप से हनुमान चालीसा का पाठ किया गया। जिसमें श्रद्धालु भगवान हनुमान की भक्ति में सराबोर दिखे। पाठ के उपरांत भंडारे का आयोजन किया गया। जहां सैंकड़ों हनुमान भक्त श्रद्धालुओं के बीच प्रसाद का वितरण किया गया।

बताते चलें कि पोचरा का प्राचीन पवनसुत महावीर मंदिर 70 फीट उंचा है। जो क्षेत्र का सबसे ऊंचा हनुमान मंदिर माना जाता है। प्रत्येक मंगलवार को यहां हनुमान चालीसा पाठ किया जाता है। मंदिर पर स्थानीय लोगों की गहरी आस्था बताई जाती है।

By Admin

error: Content is protected !!