भुरकुंडा में ‘हिट एंड रन’ पर नये कानून का ड्राइवरों ने किया विरोध

• ‘स्टेयरिंग छोड़ो’ हड़ताल के तहत दूसरे दिन बड़े सवारी वाहनों का परिचालन रखा ठप

रामगढ़: केंंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे ‘हिट एंड रन’ से संबंधित नये कानून के खिलाफ भुरकुंडा में कई ड्राइवर एक जनवरी से ‘स्टेयरिंग छोड़ो’ हड़ताल पर हैं। हड़ताल के दूसरे दिन मंगलवार को कई ड्राइवरों ने सड़क पर उतरकर ‘हिट एंड रन’ मामले में लाए जा रहे कानून पर अपना विरोध जताया । जबकि भुरकुंडा से रांची बस सेवा और भुरकुंडा से बड़कागांव सवारी वाहनों का परिचालन रोक दिया गया है। जिससे आम लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है। हालांकि लोकल स्तर पर ऑटो और अन्य वाहनों का परिचालन जारी है।

Drivers took to the streets in protest against the new law on 'hit and run' in Bhurkunda.

विरोध करते ड्राइवरों ने बताया कि केंंद्र सरकार ‘हिट एंड रन’ पर 10 लाख जूर्माना और सात साल की सजा का कानून लाने की तैयारी कर रही है। जो ड्राइवरों के साथ अन्याय है।
कई बार दुर्घटना के बाद स्थानीय पब्लिक के आक्रोश से बचने के लिए आपधापी में ड्राइवर भागने को मजबूर होते हैं। कई बार दुर्घटनाएं वाहन की तकनीकी गड़बड़ी और दूसरों की गलतियों से भी होती हैं जिसे तत्काल साबित कर पाना भी मुमकिन नहीं हो पाता है। ऐसे में इतने कठोर कानून से सीधे तौर पर गरीब ड्राइवरों के लिए बड़ी मुसीबतें खड़ी हो सकती है। कहा कि कई बार गलती नहीं होने के बावजूद भी ड्राइवर पब्लिक के गुस्से का शिकार होते हैं और निर्दोष होते हुए भी बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ता है। सरकार को ड्राइवरों की सुरक्षा को लेकर भी कानून लाना चाहिए।

बताते चलें कि हिट एंड रन पर नये कानून को लेकर भुरकुंडा के कई ड्राइवर एक से तीन जनवरी तक स्टेयरिंग छोड़ों आंदोलन पर है। विरोध जतानेवालों में एनके तिवारी, दीपक तिवारी, सुदामा शर्मा, मोहम्मद सोनू, नूर मोहम्मद, रमेश, संजय सिंह, बिनोद मांझी, देवनाथ महतो, छोटू, मिथिलेश कुमार राम, मोहम्मद सोनू, उत्तम, संजय, महेश, शंकर, धर्मेंद्र ,अजय सिंह, बसंत, राजू, दीपक नायक, रंजीत नायक, चमन सहित कई ड्राइवर शामिल रहे।

By Admin

error: Content is protected !!