बड़कागांव : बारिश कम होने से किसानों को हुआ भारी नुकसान

सांसद प्रतिनिधि श्रीकांत निराला ने बड़कागांव को अकाल क्षेत्र घोषित करने की मांग की

बड़कागांव  :  हजारीबाग जिले के बड़कागांव प्रखंड में इन दिनों बारिश नहीं होने के कारण किसान आसमानों की तरफ टकटकी लगाए बारिश का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन बरसात होने का नाम नहीं ले रही। 

बड़कागांव क्षेत्र खेती के लिए प्रसिद्ध है। वहां ज्यादातर लोग का जीविकोपार्जन खेती से ही जुड़ा है और खेती नहीं होने से उनके जीविकोपार्जन की बहुत बड़ी समस्या उत्पन्न हो गई है। किसान सालों भर खेती के माध्यम से अपना और अपने परिवार के लोगों का भरण पोषण करते हैं। ऐसे में बारिश के नहीं होने से किसान काफी चिंतित हैं। किसान प्रतिदिन सुबह बारिश का इंतजार करते हैं और आसमान में गिरे काले बादलों को देख खुश होते हैं और अंदाजा लगाते हैं कि आज जम के बारिश होगी। आसमान में घिरे काले बादलों को हवा अपने साथ उड़ा कर कहीं दूर ले जाते हैं जिससे किसान काफी निराश हो जा रहें हैं। किसानों के द्वारा खेतों में लगे धान के बिचड़े अब सूख रहे हैं। अभी तक जैसे-तैसे किसान धान के बिचड़े को बचाने के लिए प्रयास कर रहे हैं और अगर यही स्थिति रही तो इस बार धान की खेती ज्यादातर किसान नहीं कर पाएंगे। किसानों ने बताया कि कुछ किसानों ने तो धान के बिचड़े लगाए भी नहीं है जबकि कुछ किसानों ने धान का बिचड़े काफी कम लगाया है क्योंकि समय से बारिश नहीं होने के कारण खेत सूखे पड़े हैं। ऐसे में धान की खेती कैसे होगी। किसान सरकार से इस वर्ष बड़कागांव प्रखंड को अकाल क्षेत्र घोषित करने की मांग कर रहे हैं।

किसान विकास कुमार महतो, कीर्तन कुमार, प्रेमलाल महतो, धर्मनाथ कुमार दाँगी, रामकुमार प्रसाद, देवनाथ महतो, फागुन गोप, विक्रम कुमार, जयनाथ महतो का कहना है कि जो उन्होंने धान के बिचड़े लगाए हैं वह सुख रहे हैं और ऐसे में उन्हें काफी नुकसान होने वाला है। सरकार किसानों के नुकसान की भरपाई करें जिससे की किसानों को राहत मिल सके। वहीं भारतीय जनता पार्टी बड़कागांव प्रखंड अंतर्गत उरीमारी मंडल के सांसद प्रतिनिधि श्रीकांत निराला ने कहा कि पूरे झारखंड में वर्षा नहीं होने के कारण सुखा पड़ गया है। धान का बिचड़ा सुख गया है। इसलिए उन्होंने झारखंड सरकार से बड़कागांव प्रखंड को अकाल क्षेत्र घोषित करने की माँग की है।

By Admin

error: Content is protected !!