झारखंड जल रहा है और मुख्यमंत्री सीटी बजा रहे हैं : दीपक प्रकाश

अंकिता की हत्या पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने की प्रेसवार्ता

रांची।  अंकिता की मौत को लेकर भारतीय जनता पार्टी प्रदेश कार्यालय में मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। जिसमें भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश, महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष आरती कुजूर, प्रदेश महामंत्री प्रदीप वर्मा मौजूद रहे। प्रेसवार्ता से उन्होंने दिवंगत अंकिता की तस्वीर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।
पत्रकारों को संबोधित करते हुए दीपक प्रकाश ने कहा कि झारखंड में 32 महीने की सरकार ने सबसे ज्यादा उत्पीड़न अगर किसी का हुआ है तो वह महिलाओं का हुआ है। बलात्कार की  घटनाएं सबसे ज्यादा घटी हैं। सरकारी आंकड़े के अनुसार जनवरी 2020 से मई 2022 तकरीर के 4077 घटनाएं हुई हैं। हमारी आदिवासी बहनों के साथ बलात्कार की सबसे ज्यादा पाश्विक घटनाएं हुई है। बहनों को जलाया जा रहा है राज सरकार पूरी तरह संवेदनहीन हो चुकी है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि, बेटी ऐसी अंकिता के साथ जो घटना घटी है झारखंड को शर्मसार करने वाली है।  पूरा देश इस घटना से मर्माहत है। राज्य सरकार से सवाल है कि -अंकिता हमारे बीच आज क्यों नहीं है। अंकिता का कसूर सिर्फ इतना था कि वह गरीब कोख से पैदा हुई थी और उसके पिता के पास पैसे का भाव था। घटना 23 तारीख को सुबह 5:30 बजे घटी और 12 घंटे तक प्रशासन ने कुछ नहीं किया। 12 घंटे के बाद अंकिता के पिता  पैसे जुटाकर किसी तरह उसे रिम्स ला सके। इसमें जिला प्रशासन पर कहीं कोई सहयोग नहीं रहा।  दुमका के डॉक्टरों की रिपोर्ट के अनुसार अंकिता 46% जल गई थी। यहां रिम्स में उसे जनरल वार्ड में रख दिया गया। हमारे युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने आर्थिक सहयोग भी किया, लेकिन वो नाकाफी था। सरकार इतनी देर क्या कर रही थी,  मुख्यमंत्री जी आप  यह बताएं ?

आगे उन्होंने कहा कि कहावत है रोम जल रहा था और वहां का राजा बंसी बजा रहा था ठीक उसी तरह आज झारखंड जल रहा है और मुख्यमंत्री सीटी बजा रहे हैं, पिकनिक मनाया जा रहा है। जब राजा ही संवेदनहीन हो जाए तो जनता में आक्रोश होना स्वाभाविक है। आज झारखंड के लोग आक्रोशित हैं।

दीपक प्रकाश ने कहा कि शाहरुख हुसैन पिछले दो वर्ष से अंकिता को परेशान कर रहा था। इसकी शिकायत करने पर शाहरुख का बड़ा भाई सलमान अंकिता के घर वालों को धमकी देता था। वहीं डीएसपी नूर मोहम्मद ऊर्फ झामुमो कार्यकर्ता के निर्देश पर एफआईआर में अंकिता की उम्र को बढ़ा दिया जाता है और अपराधी की उम्र को घटा दिया जाता है। जिससे जुवेनाइल कानून के तहत बचाने का प्रयास किया जा सके।

उन्होंने कहा कि घटना में शाहरूख का सहयोगी नईम खान उर्फ छोटू खान के संबंध में जानकारी मिल रही है कि उसके और उसके परिवार वालों के संबंध पीएफआई से है। इसकी जांच एनआईए से होनी चाहिए।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि अंकिता की मौत के बाद मुख्यमंत्री कहते हैं 10 लाख की घोषणा। एक जान की कीमत 10 लाख! वाह मुख्यमंत्री जी वाह!..रांची के मेनरोड पर एक पत्थरबाज के घायल होने पर तुरंत एयर एंबुलेंस से इलाज के लिए भेजते हैं। वहीं अंकिता के लिए संवेदनहीन हो गये। जब आप संवैधानिक पर हो तो वोट बैंक की राजनीति नहीं करनी चाहिए। सरकार को सभी को बराबरी के नजरिये से देखना चाहिए।

उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में छोटी-छोटी घटनाओं पर पहुंकर घड़ियाली आंसू बहानेवाली कांग्रेस में जरा भी नैतिकता बची है तो उसे भी सामने आना चाहिए। सोनिया और राहुल गांधी को आना चाहिए। राज्य में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है। बलात्कार की घटनाएं, एसिड फेंकने की घटना बढ़ी रही है। लोग मर रहे और राज्य सरकार मस्ती कर रही है। राज्य की आधी आबादी महिलाओं पर अत्याचार होगा, उनके साथ अन्याय होगा तो भारतीय जनता पार्टी यह बर्दाश्त नहीं करेगी।

By Admin

error: Content is protected !!