लातेहार : सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में मना विजय दिवसVictory Day celebrated at Latehar Saraswati Shishu Vidya Mandir

रिपोर्ट-संजय राम

बारियातू (लातेहार): प्रखंड मुख्यालय स्थित सरस्वती शिशु विद्या मंदिर परिसर में विजय दिवस कार्यक्रम मनाया शुक्रवार को मनाया गया। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि बारियातू थाना प्रभारी विन्देश्वर महतो,एसआई दीपक नारायण सिंह, विशिष्ट अतिथि विद्यालय के अध्यक्ष किशोर प्रसाद, आरएसएस पलामू विभाग संघचालक जानकी नंदन राणा समिति सदस्य सत्येन्द्र प्रसाद व प्रधानाचार्य जितेन्द्र राम ने संयुक्त रूप से भारत माता, ऊं के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन एवं पुष्प अर्पित कर किया। उपस्थित अतिथियों को कक्षा अष्टम के बहनों ने स्वागत गीत के साथ स्वागत किया तथा विद्यालय की ओर से उपस्थित अतिथियों को अंग वस्त्र के साथ सम्मानित किया गया।

प्रधानाचार्य जितेन्द्र राम ने भैया बहनों को संबोधित करते हुए बताया कि विद्या भारती योजना के अनुसार सोलह दिसंबर को विजय दिवस कार्यक्रम मनाया जाता है। सोलह दिसंबर 1971 को भारतीय सैनिक एवं पाकिस्तानी सैनिकों के साथ युद्ध हुआ था। इस युद्ध में भारतीय सैनिकों के साहस एवं पराक्रम के कारण 93000 पाकिस्तानी सैनिक भारतीय सेना के सामने आत्मसमर्पण कर दिए थे ।इस युद्ध में हमारे भारतीय सैनिक तकरीबन 3900 शहीद हो गए थे, और लगभग 9851 घायल हुए थे। यह युद्ध भारत के लिए ऐतिहासिक और हर देशवासी के हृदय में उमंग पैदा करने वाला साबित हुआ था। भारतीय सैनिकों का पराक्रम एवं शौर्य गाथा का बोध कराने के लिए हर वर्ष सोलह दिसंबर को विजय दिवस मनाया जाता है। इस तरह के कार्यक्रम के आयोजन से भैया बहनों के अंदर भारतीय सैनिकों के प्रति आदर एवं सम्मान का भाव जगेगा। साथ ही उनके अंदर राष्ट्रभक्ति का भी भाव जगेगा। मुख्य अतिथि थाना प्रभारी महोदय विन्देश्वर महतो ने भैया बहनों को संबोधित करते हुए कहा कि आप सभी शिक्षा प्राप्त करने के बाद देश सेवा के लिए हम से भी बड़ा अधिकारी बने यही मेरी शुभकामना है ।

हजारीबाग के पूर्व छात्र एवं एसआई दीपक नारायण सिंह ने कहा की यहां की वंदना देखकर मेरा भी बचपना याद आ गया। आपके जैसा ही मैं भी सरस्वती शिशु विद्या मंदिर हजारीबाग में पढ़कर देश सेवा में आया हूं। आप सभी भी पढ़कर एक उच्च अधिकारी बनकर अपने माता- पिता एवं विद्यालय का नाम रौशन करें। अध्यक्ष किशोर प्रसाद, पलामू विभाग संघचालक जानकीनंदन ने भी अपने अपने विचार व्यक्त करते हुए भारतीय सैनिकों के साहस एवं पराक्रम की शौर्य गाथा का वर्णन किया सभी ने कहा कि देश सेवा के लिए सेना में जाना चाहिए।

मंच संचालन आचार्य लवकेश उपाध्याय ने किया।कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन लक्ष्मण राम व अतिथि परिचय समिति सदस्य सत्येन्द्र प्रसाद ने किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय गीत के साथ किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से आचार्य राज किशोर मिश्रा, नितेश ठाकुर, वीणा देवी, किरण देवी, मनीषा कुमारी, खुशबू कुमारी ,विनीता कुमारी एवं सभी भैया बहने उपस्थित थे।

By Admin

error: Content is protected !!