स्त्री सशक्तिकरण की प्रणेता सावित्रीबाई फुले को नमन: लवली गुप्ता

रांची: महान समाज सुधारक सावित्रीबाई फुले के जन्म जयंती पर बुधवार को भाजपा प्रदेश प्रवक्ता लवली गुप्ता ने उनकी तस्वीर पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। अवसर पर उन्होंने कहा कि भारत जैसे देश में जहां आज भी महिलाओं के साथ कई तरह के भेदभाव होते है। आज भी महिलाओं को आगे बढ़ने के लिए संघर्ष करना पड़ता है। वैसे में उस कालखंड में जहां रूढ़िवादी सोच पूरे समाज में व्याप्त थी वैसे समाज में सावित्रीबाई फुले जी ने महिलाओं की शिक्षा के लिए बात उठाई और लड़ाई लड़कर महिलाओं को सबल किया।

कहा कि, सावित्रीबाई फुले उनमें से एक है जो समाज में सार्थक बदलाव के लिए न केवल भागीदार बनी बल्कि खुद भी एक आदर्श प्रस्तुत किया। महिलाओं को शिक्षित किया, कन्या भ्रूण हत्या पर रोक के लिए कदम उठाए, विधवा पुनर्विवाह को बढ़ावा देने के लिए सार्थक प्रयास किया। महिलाओं से जुड़ी उस समय की तमाम समस्याओं पर सावित्रीबाई फुले ने अपने पति ज्योति बा फूले के साथ कदम से कदम मिलाकर महिलाओं को सशक्त करने के लिए लड़ाई लड़ी और महिलाओं की शिक्षा के लिए आवाज उठाने वाली सावित्रीबाई फुले भारत के प्रथम कन्या विद्यालय में प्रथम महिला शिक्षिका बनीं। सावित्रीबाई फुले ने शिक्षा के माध्यम से महिलाओं को सफलता पाने की अलख जगाई। स्त्री के जीवन की दिशा और दशा बदलने में अहम भूमिका निभाई। जिसके फलस्वरूप आज आधी आबादी  नै विज्ञान और तकनीक की दुनिया से लेकर राजनीति, खेल, सेना और न्यायपालिका तक अपनी दखल बनाई है।

लवली गुप्ता ने कहा कि सावित्रीबाई फुले की जन्म जयंती पर हम सभी महिलाओं को उन्हें नमन करना चाहिए और उनके जीवन को याद करते हुए उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए। 

By Admin

error: Content is protected !!