स्वच्छता पखवाड़ा पर राजमहल और उधवा प्रखंड में हुए कई कार्यक्रम

• राजमहल के सिंधी दलान में चला स्वच्छता कार्यक्रम

• उधवा पक्षी अभ्यारण में की गई साफ सफाई

साहिबगंज : पर्यटन कला संस्कृति एवं खेलकूद विभाग निर्देशानुसार जिले में 16 सितंबर से 30 सितंबर तक स्वच्छता पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। जिले को साफ सुथरा एवं स्वच्छ बनाने के इस सकारात्मक पहल के आलोक में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है। इसी संदर्भ में आज प्रखंड उधवा में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया। जहां उधवा पक्षी अभ्यारण्य में पर्यटकीय क्षेत्र में स्वच्छता अभियान चलाया गया।
इस दौरान सर्वप्रथम सफाई अभियान चलाया गया एवं लोगों से कूड़ा कूड़ेदान में डालने का आग्रह किया गया।जागरूकता कार्यक्रम के तहत प्रखंड विकास पदाधिकारी श्राहुल देव द्वारा स्वच्छता कर्मी और ग्रामीणों को स्वच्छता शपथ भी दिलाया गया। वहीं मनरेगा बीपीओ गगन बापू ने बताया की आज विश्व पर्यटन दिवस के अवसर पर स्वच्छता पखवाड़ा के तहत उधवा पक्षी अभ्यारण्य में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। जिससे पर्यटन स्थल पर साफ सफाई रहे,और आने वाले पर्यटकों को भी इसके लिए प्रेरित किया जाए । बीपीओ गगन बापू ने बताया की झारखंड राज्य का एकमात्र पक्षी अभ्यारण्य है हमारा उधवा पक्षी अभ्यारण्य यहां विदेशी पक्षी आते है उसके लिए पर्यावरण को स्वच्छ रखें ताकि उनके लिए ऐसा वातावरण का निर्माण हो सके।
वहीं कार्यक्रम के तहत वृक्षारोपण किया गया जिसमें पेड़ लगाकर भी स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक भी किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं बीपीओ के अलावे प्रखंड समन्वय अभिजीत कुमार, एसबीएम के प्रियरंजन घोष, राजेश कुमार सहित अन्य थे। पर्यटन स्वच्छता पखवाड़ा के तहत राजमहल प्रखंड के सिंधी दलान में भी स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया गया।
जहां विभिन्न विद्यालयों के छात्र-छात्राओं द्वारा चित्रांकन प्रतियोगिता का आयोजन हुआ इस दौरान चित्रांकन के माध्यम से लोगों को अपने आसपास साफ-सफाई रखने सिंगल यूज़ प्लास्टिक का उपयोग ना करें एवं गंगा घाट को साफ रखने के सकारात्मक संदेश दिए गए।
कार्यक्रम के दौरान प्रखंड विकास पदाधिकारी राजमहल के नेतृत्व में डस्टबिन का वितरण एवं राजमहल सिंधी दलान घाट में साफ सफाई कार्यक्रम भी चलाया गया जहां लोगों को घाट पर केमिकल आदि से बनी वस्तुओं को प्रवाहित ना करने एवं पूजन सामग्रियों को प्रवाहित ना करने के विषय में जागरूक करते हुए जिले को प्लास्टिक मुक्त बनाने की दिशा में अपना योगदान देने को कहा गया।

By Admin

error: Content is protected !!