अंकिता के हत्यारों पर हत्या का मामला दर्ज, पोस्को एक्ट भी लगा

अंकिता थी नाबालिग, बाल कल्याण समिति ने लिया संज्ञान

राज्य में विधि-व्यवस्था सवालों में घिरी

Khabarcell.com

अंकिता हत्याकांड को लेकर झारखंड सहित पूरा देश मर्माहत है। घटना को लेकर आक्रोशित लोग कर दोनों आरोपियों शाहरुख और नईम उर्फ छोटू खान को फास्ट ट्रैक कोर्ट चलाकार फांसी देने की मांग कर रहे हैं। इधर जानकारी मिल रही हैं कि अंकिता की मौत के बाद  दुमका नगर थाना में दर्द कांड संख्या 200/22 हत्या के मामले में तब्दील हो गया है। आरोपी शाहरुख और नईम पर दफा 302 और पोस्को एक्ट सहित अन्य धारायें भी लगी है। घटना की एफआईआर में अंकिता की उम्र 19 वर्ष दर्ज बताया जा रहा था। जबकि जांच में अंकिता की उम्र 16 वर्ष से भी कम पाई गई है। जिसके बाद बाल कल्याण समिति दुमका ने मामले पर संज्ञान लेनै के उपरांत पोस्को एक्ट की धारा 12 जोड़ा दी गई है। बताते चले आरोपी शाहरुख काफी समय से अंकिता पर दोस्ती और बात करने का दबाव बना रहा था। अंकिता के विरोध के बाद  बीते 23 अगस्त को घर में सोती हुई अंकिता को शाहरूख ने खिड़की से पेट्रोल छिड़क कर जला दिया। लगभग 46% जल चुकी अंकिता  ने 27 अगस्त को रिम्स में दम तोड़ दिया।

इधर, इस जघन्य घटना के बाद अंकिता की चिकित्सा सुविधाओं और घटना को लेकर दुमका जिला प्रशासन से आपेक्षित सहयोग और कार्यशैली सवालों में है। राज्य में विधि-व्यवस्था को लेकर राजनीति गरम हो चुकी है। आम लोग ऐसी घटनाओं पर कठोर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। 

By Admin

error: Content is protected !!