उरीमारी परियोजना प्रबंधन और एनसीओईए की बैठक में 17 सूत्री मांगों पर वार्ताMeeting in ccl urimari project

बड़कागांव : सीसीएल उरीमारी प्रबंधन एवं एनसीओईए सीटू की बैठक उरीमारी परियोजना पदाधिकारी के कार्यालय कक्ष में शनिवार को हुई। बैठक में यूनियन के द्वारा सौंपे गए 17 सूत्री मांग पत्र पर वार्ता हुआ। यूनियन ने मांग पत्र में कहा गया था कि रविवार ड्यूटी में बगैर भेदभाव के ड्यूटी दिया जाए, फरवरी 2022 में श्रमिकों द्वारा किए गए काम का 13 दिनों का बकाया वेतन राशि बगैर देर किए भुगतान किया जाए, उरीमारी बिरसा परियोजना बरका-सयाल का हृदय है इन में कार्यरत श्रमिकों का स्वास्थ्य संबंधी उरीमारी डिस्पेंसरी में पूर्णकालिक डॉक्टर की रखने की व्यवस्था की जाए एवं जीवन रक्षक दवाइयां डिस्पेंसरी में उपलब्ध हो, पोटंगा वर्कशॉप में द्वितीय एवं तृतीय पाली में एंबुलेंस की व्यवस्था की जाए, क्वायरी नंबर 562 और 522 में माइन्स रेगुलेशन 2017 के आधार पर हॉल रोड चौड़ीकरण किया जाए, पोटंगा से वर्कशॉप तक रोड बनवायी जाए एवं लाइटिंग की व्यवस्था हो, सीएमपीएफ पासबुक 2022 तक अप टू डेट किया जाए एवं सभी श्रमिकों को लिखित राशि बताई जाए, उरीमारी परियोजना अंतर्गत गैस सप्लाई एवं वेल्डिंग रॉड की कमी को दूर किया जाए उपरोक्त कमी के कारण क्रेशर मशीन दो नंबर बंद पड़ा है, क्रशर में काम करने वाले ऑपरेटर को प्रमोशन दिया जाए, मैकेनिकल पार्ट्स को समय पर मुहैया कराया जाए जैसे सिविल विभाग में पंप का तथा वैकल्पिक विभाग में पार्ट्स का, सुरक्षा को ध्यान में रखकर ही उत्पादन कराया जाए, पूर्व की भांति प्रत्येक माह की 5 तारीख को वेतन का भुगतान कार्य कराने की गारंटी की जाए सहित कई मांगें शामिल था।

जिस पर उरीमारी परियोजना पदाधिकारी पीके सिन्हा ने यूनियन को आश्वासन दिया कि सभी मांगों पर जल्द से जल्द सकारात्मक पहल किया जाएगा।

वार्ता में मुख्य रूप से प्रबंधन की ओर से उरीमारी परियोजना पदाधिकारी पीके सिन्हा, अजय कुमार, कोविंद एवं यूनियन की ओर से जोनल सचिव पीडी सिंह, क्षेत्रीय सचिव रामनरेश सिंह, क्षेत्रीय अध्यक्ष बासुदेव साव, क्षेत्रीय सह अध्यक्ष असीम धर, उरीमारी शाखा सचिव गोपाल यादव, बैजनाथ सिंह, संजय कुमार, शक लाल महतो, मनोज पांडे सहित कई लोग मौजूद थे।

By Admin

error: Content is protected !!