जीएम सांध्यकालीन महाविद्यालय में एनएसएस ने मनाया वन महोत्सव

इचाक/ हजारीबाग : जीएम संध्याकालीन महाविद्यालय की एन.एस.एस. इकाई द्वारा वन महोत्सव सप्ताह कार्यक्रम के तहत वृक्षारोपण किया गया। कार्यक्रम के दौरान प्राचार्य विनय कुमार ने कहा कि वनों के विनाश से बचने एवं वृक्षारोपण योजना को वन महोत्सव का नाम देकर अधिक से अधिक लोगों को इससे जोड़कर भू-आवरण को वनों से आच्छादित करना एक अच्छा और नया प्रयास है। हमारे पवित्र वेदों में भी इसका उल्लेख है। महाविद्यालय प्रभारी पंकज कुमार ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम लोगों में पेड़ों के प्रति जागरूकता की शिक्षा का उत्सव है और यह बताता है कि पेड़ लगाना और उनका रख-रखाव करना ग्लोबल वार्मिंग और प्रदूषण को रोकने में सबसे अच्छा रास्ता है। वन महोत्सव जीवन के उत्साह की तरह मनाया जाता है। वन महोत्सव पर पौधे लगाकर कई उद्देश्यों को साधा जाता है, जैसे वैकल्पिक ईंधन की व्यवस्था, खाद्यान्न संसाधन बढ़ाना, पशुओं के लिए चारा उत्पादन, छाया और सौंदर्यकरण, भूमि संरक्षण आदि। एन.एस.एस के स्वयंसेवकों ने नीम, पीपल, बरगद और आम के पौधे लगाए। वृक्षारोपण कार्यक्रम को सफल बनाने में शिक्षक रत्नेश कुमार राणा, दीपक प्रसाद, रियाज़ अहमद, अजीत हंसदा, अजय उरांव, आशीष पांडे, संगम कुमारी, गायत्री शर्मा, बिनोद कुमार मेहता, कृष्ण कुमार मेहता, राजकुमार सिन्हा, संजय प्रजापति, सुनीता टोप्पो, अलकमा शाहीन, अभिषेक शर्मा, ललिता देवी सहित कई लोगों का सराहनीय योगदान रहा।

By Admin

error: Content is protected !!