बड़कागांव : पानी के अभाव में सूख चले धान के बिचड़े

बारिश नहीं होने से बढ़ी किसानों की परेशानी

बड़कागांव : प्रखंड अंतर्गत विभिन्न पंचायतों में बारिश नहीं होने के कारण खेतों में धान के बिचड़े सूख रहे हैं। कुछ जगहों पर किसानों द्वारा धान के बिचड़े को बचाने के लिए जैसे-तैसे पटवन कर बिचड़े को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। वहीं खेतों में सूखे के कारण दरारें पड़ने लगी है। किसान बताते हैं कि हर वर्ष की तुलना में इस वर्ष आधे से भी कम बिचड़े किया गया है ताकि बारिश नहीं होती है तो नुकसान ज्यादा ना हो। वहीं कुछ किसानों ने उम्मीद में पिछले वर्ष के जैसे ही धान के बिचड़े तैयार किए हैं। खेत में तैयार धान के बिचड़े को पशु चर जा रहे हैं तो कहीं सूखे के कारण बिचड़ा पीला पड़ रहा है। किसान बारिश नहीं होने के कारण काफी हताश है। किसानों की मानें तो अगर कुछ दिनों में अच्छी बारिश नहीं हुई तो इस बार धान की खेती करना मुश्किल हो जाएगा और जितने बिचड़े लगाए गए हैं वह सारा नुकसान हो जाएगा। ऐसे में सरकार को इस वर्ष अकाल घोषित करते हुए किसानों को राहत पैकेज देने का काम करना चाहिए। जिससे की किसानों के नुकसान की भरपाई हो सके।

By Admin

error: Content is protected !!