मुंबई से 10 राज्यों की पदयात्रा पर निकले नरेश पहुंचे रामगढ़

प्रवासी मजदूरों की समस्याओं पर जुटा रहे हैं डाटा

रांची: अपने “वाक फॉर माईग्रेंट” इनिशिएटिव के तहत 10 राज्यों की 5100 किलोमीटर की पदयात्रा पर निकले नरेश सीजापति बुधवार को रामगढ़ पहुंचे। जहां उन्होंने बरकाकाना में प्रवासी मजदूर परिवार से मुलाकात की। यहां उन्होंने मजदूर परिवार के जीविकोपार्जन और सुविधाओं के संबंध में जानकारी ली। नरेश सीजापति रामगढ़ से हजारीबाग होते हुए बिहार राज्य के लिए चले गया। बातचीत के क्रम में नरेश सीजापति ने बताया कि 12 जून को मुंबई से पदयात्रा शुरू की थी। इसके बाद गुजरात, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ होते हुए झारखंंड के गुमला पहुंचे। गुमला से खूंटी, रांची, रामगढ़ और हजारीबाग होते हुए बिहार और अन्य राज्यों के लिए रवाना होंगे। उन्होंने बताया कि प्रवासी मजदूरों के लिए सरकार के पास कोई नीति नहीं है। मजदूर घर-परिवार से दूर जाकर काम करते हैं। चूंकि वहां के वोटर नहीं होते, इसलिए उनकी समस्याओं पर नेता और अधिकारी ध्यान नहीं देते। बाहर में मजदूर सुविधाओं का अभाव झेलते हैं। न्यूनतम मजदूरीं, काम का समय सहित कई तरह से शोषण भी झेलते हैं।

By Admin

error: Content is protected !!