जीएम महाविद्यालय ने निकाली भव्य तिरंगा शोभा यात्रा

हजारीबाग : जीएम महाविद्यालय, इचाक परिसर से आजादी के 75 वर्ष के शुभ अवसर पर अमृत महोत्सव के अंतर्गत भव्य शोभायात्रा शनिवार को निकाली गई। जीएम महाविद्यालय के प्रभारी पंकज कुमार के नेतृत्व में इस शोभायात्रा महाविद्यालय परिसर से लेकर हादरी,धरमू, इचाक थाना, कुटुमसुकरी से होते हुए दर्जीमुहल्ला, इचाक बाजार, परासी, परियोजना बालिका उच्च विद्यालय होते हुए वापस महाविद्यालय परिसर में शोभा यात्रा को समाप्त हो गया।

मौके पर जीएम संध्याकालीन महाविद्यालय के प्राचार्य विनय कुमार ने कहा कि देखो आज गगन भी सम्मान से मुस्कुरा रहा है क्योंकि खुले आकाश में तिरंगा लहरा रहा है। इचाक के हर घरों में तिरंगा लहरा रहा है। तिरंगा हमारे देश की आन-बान और शान है। हम तिरंगे को झुकने नहीं देंगे। इस अवसर पर जीएम इंटर कॉलेज के प्राचार्य शंभू कुमार ने कहा कि हमारे देश को आजादी स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान के उपरांत प्राप्त हुई है। स्वतंत्रता सेनानी के बलिदान के प्रतीक के रूप में हम सभी भारतीय तिरंगा को स्वीकार किया है। हर भारतीय को अपने यहां तिरंगा फहराना उनका मौलिक अधिकार है। उन्होंने बताया कि तिरंगा शोभायात्रा का उद्देश्य हर भारतीयों के मन में देशभक्ति की भावना का विकास करना है। हर भारतीयों को देश की रक्षा का कर्तव्य की याद दिलाना है। छात्र-छात्राओं में कूट-कूट कर राष्ट्रीय भावना भरने का प्रयास किया जाता है। यह संस्थान छात्र-छात्राओं के सर्वांगीण विकास हेतु समर्पित है। निदेशक शंभू कुमार ने कहा कि आजादी के 75 वें वर्षगांठ के अवसर पर जीएम ग्रुप ऑफ कॉलेज, हजारीबाग के अधीन अमृत महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। इसके अंतर्गत निबंध प्रतियोगिता, भाषण प्रतियोगिता, पेंटिंग प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता कराई गई है। साथ ही साथ आजादी के 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर संस्थापक घनश्याम प्रसाद मेहता के विचारों के आधार पर 75 वृक्षों का वृक्षारोपण किया गया है। अमृत महोत्सव के अंतर्गत जो विभिन्न प्रतियोगिताएं हुई है। उसमें प्रथम तीन स्थान प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को स्वतंत्रता दिवस के दिन सम्मानित किया जाएगा।
इस भव्य तिरंगा शोभायात्रा में संस्थान के हजारों छात्र-छात्राएं तिरंगा लहरा कर इचाक के लोगों को संदेश दिया कि यदि आवश्यकता पड़ी तो देश की रक्षा के लिए छात्र-छात्राएं महत्वपूर्ण योगदान देंगे। सभी छात्राओं ने समवेत स्वर में झंडा गीत, ‘विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊंचा रहे हमारा’ गाया। इस शोभायात्रा में इंकलाब जिंदाबाद, वंदे मातरम, सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है जोर कितना बाजुए कातिल में है, जय हिंद, हिंदुस्तान जिंदाबाद, हर करम अपना करेंगे ए वतन तेरे लिए के नारे लगाए गए। शोभा यात्रा में शिक्षक रत्नेश कुमार राणा, दीपक प्रसाद, रियाज अहमद,अजीत हंसदा, आशीष कुमार पांडे, अजय उरांव, अजीत कुमार, संगम कुमारी, कुमारी गायत्री शर्मा, राजकुमार, कृष्ण कुमार मेहता, बिनोद कुमार मेहता, प्रिया कुमारी, सुनीता टोप्पो, सोनी देवी, अभिषेक शर्मा, शशि कुमार का सराहनीय योगदान रहा।

By Admin

error: Content is protected !!