मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र का उद्घाटन और शैक्षणिक सामग्री का हुआ वितरण 

रांची : यूनाईटेड वे मुंबई और बदलाव फाउंडेशन मिहिजाम के संयुक्त तत्वावधान में संचालित अंकुर परियोजना के तहत मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र चेटर बूढ़ीबागी का उद्घाटन कार्यक्रम शनिवार को आयोजित किया गया ।

केंद्र का उद्घाटन ग्राम पंचायत कोकदोरो के मुखिया उज्जवल पहान, अंकुर परियोजना के प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर भय भजन महतो, वार्ड सदस्य दीपक उरांव, पूनम देवी, समाजसेवी कृष्ण उरांव, राजीव रंजन, फैजल खान के द्वारा संयुक्त रूप से फीता काटकर एवं दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर आंगनबाड़ी केंद्र में नामांकित 3 से 6 वर्ष के नियमित आने वाले 20 बच्चों के बीच शैक्षिक एवं पोषण सामग्री का वितरण किया गया। वहीं 0 से 6 वर्ष के बच्चों, गर्भवती माताओं और दूध पी लेने वाली माताओं 40 लाभार्थियों के बीच पोषण सामग्री का वितरण किया गया।

इस अवसर पर अंकुर प्रोजेक्ट के कोऑर्डिनेटर भय भंजन महतो ने कहा कि बाल विकास, मानव विकास की नींव एवं राष्ट्रीय विकास की आधारशिला है। भारत में समेकित बाल विकास सेवाएं आईसीडीएस योजना के माध्यम से संचालित की जा रही है। आईसीडीएस योजना के बेहतर संचालन कार्यान्वयन एवं वर्तमान प्रणाली में सुधार के लिए परियोजना के द्वारा प्रयास किया जाता रहा है।आईसीडीएस योजना अंतर्गत बहाल बुनियादी सुविधाओं में विशेषकर आंगनबाड़ी केंद्र का भवन बाल विकास की दिशा में एक अनुकूल बदलाव लाने की दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। आंगनबाड़ी केंद्र का भवन समेकित बाल विकास की दिशा में आंचल से आंगन और फिर आंगन से वाह्य जगत के पड़ाव के बीच एक तारतम्यता स्थापित करता है। इसके माध्यम से बाल विकास की सभी आयामों को ध्यान में रखते हुए वात्सल्य पूरित सुविधाओं और समर्थक सेवाओं के माध्यम से बच्चों के सर्वांगीण विकास को सुनिश्चित किया जाता है। समेकित बाल विकास सेवाएं आंगनबाड़ी केंद्र के माध्यम से प्रदान की जाती है। इसमें आंगनबाड़ी केंद्र के भवन की महत्वपूर्ण भूमिका है। आंगनबाड़ी केंद्र के भवन को एक अच्छे भवन के साथ-साथ आकर्षक, उत्साहवर्धक, सृजनात्मक तथा बच्चों के अनुकूल किए जाने की आवश्यकता है। साथ ही आंगनबाड़ी केंद्र पर विद्यालय पूर्व शिक्षा प्राप्त कर रहे 3 से 6 वर्ष के नामांकित बच्चों के सर्वांगीण विकास हेतु आंगनबाड़ी केंद्र पर बच्चों को रोचक एवं खेल-खेल के माध्यम से शैक्षिक गतिविधियों से जुड़ने के लिए सामग्री एवं गतिविधि आयोजित करने की आवश्यकता है। समेकित बाल विकास सेवाओं को बेहतर बनाने एवं बच्चों के बेहतर शिक्षा और संस्कार के लिए सरकार सहित कई गैर सरकारी संस्थानों द्वारा देश के अलग-अलग क्षेत्रों में आंगनबाड़ी केंद्र तथा केंद्र द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओं विशेषकर केंद्र में नामांकित 3 से 6 वर्ष के बच्चों को प्रदान की जाने वाली विद्यालय पूर्व शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिए कई तरह के प्रयास किए जा रहे हैं उन्होंने बताया कि इसी क्रम में सामाजिक उत्तरदायित्व के तहत फ्यूचर जनरली टोटल इंश्योरेंस सॉल्यूशंस के वित्तीय सहयोग से यूनाइटेड वे मुंबई और बदलाव फाउंडेशन मिहिजाम के संयुक्त तत्वाधान में रांची जिला अंतर्गत कांके प्रखंड के 12 आंगनबाड़ी केंद्रों में अंकुर परियोजना का संचालन किया जा रहा है।

परियोजना का मुख्य उद्देश्य आंगनबाड़ी केंद्रों को मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र के रूप में विकसित करना है। मॉडल आंगनबाड़ी केंद्र के रूप में विकसित करने हेतु आंगनबाड़ी केंद्र तथा केंद्र के पोषक क्षेत्र में विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं, जैसे विषय आधारित जागरूकता शिविर, स्वास्थ्य शिविर, क्षमता विकास बैठक तथा बच्चों के गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और संस्कार के लिए विशेष रूप से प्रशिक्षित महिला शिक्षिका के द्वारा पठन-पाठन कराने का कार्य किया जा रहा है। इस अवसर पर ग्राम पंचायत कोकदोरो के मुखिया उज्जवल पहान ने कहा कि आंगनबाड़ी केंद्र पर किया जा रहा यह प्रयास काफी सराहनीय है । आंगनबाड़ी केंद्र में जिस तरीके से पेंटिंग के द्वारा शैक्षिक सामग्री तैयार की गई है। इसमें बच्चों को सीखने में रुचि बढ़ेगी। इससे बच्चों में तीव्र गति से संज्ञानात्मक और बौद्धिक विकास होगा। इस तरह से बच्चें ज्यादा गति से सीख सकते हैं। यह अन्य आंगनबाड़ी केंद्रों के लिए एक प्रेरणा भी है। इससे सीख लेकर दूसरे आंगनबाड़ी केंद्रों में भी इस तरह के करने की आवश्यकता है। इससे सभी बच्चें को एक जैसा अवसर मिलेगा। आप बच्चें को आंगनबाड़ी केंद्र में अच्छे से तैयार करके रोज भेजें। इस अवसर पर वार्ड सदस्य दीपक उरांव, पूूूनम देेेवी आंगनवाड़ी सेविका आशा देवी, सहायिका गंगा देवी ने भी अपने-अपने विचार रखें। कार्यक्रम को सफल बनाने में अंकुर परियोजना की सहयोगी शिक्षिकाएं मुनिता बघवार, पुष्पा कुमारी, कविता कुमारी, रुखसार परवीन सहित कई लोगों का का सराहनीय योगदान रहा। कार्यक्रम में आंगनबाड़ी केंद्र में नामांकित बच्चें, बच्चों के अभिभावक, गर्भवती और धातृ माताएं सहित कई लोग मौजूद थे।

यहाँ भी पढ़ें –

By Admin

error: Content is protected !!